हाई स्कूल (कक्षा 10th ) का 2003 से 2020 तक के सभी परीक्षाफल जानिए सिर्फ एक क्लिक पर : High School Result 2003 to 2020 - Sarkari Result Hindi सरकारी रिजल्ट, Hindisarkariresult.in Rojgar Result

Sunday, April 5, 2020

हाई स्कूल (कक्षा 10th ) का 2003 से 2020 तक के सभी परीक्षाफल जानिए सिर्फ एक क्लिक पर : High School Result 2003 to 2020

UP Board 10th Result 2020

दोस्तों हाई स्कूल (कक्षा 10)  2003 से लेकर अभी 2020 तक के सभी परीक्षाफल सिर्फ एक क्लिक पर आपको मिलेंगे। उत्तर प्रदेश सरकार ने इस डिजिटल समय में यह बहुत ही सराहनीय कार्य किया है। दोस्तों नीचे आपको क्रमवार उपर्युक्त सभी वर्षों के परीक्षाफल के लिंक दिए गए है -




हाई स्कूल (कक्षा X) का परीक्षाफल - वर्ष 2003 से 2006 तक                  लिंक खोले

हाई स्कूल (कक्षा X) का परीक्षाफल - वर्ष 2007 से 2009 तक                  लिंक खोले

हाई स्कूल (कक्षा X) का परीक्षाफल - वर्ष 2010  तक                              लिंक खोले

हाई स्कूल (कक्षा X) का परीक्षाफल - वर्ष 2011 तक                               लिंक खोले

हाई स्कूल (कक्षा X) का परीक्षाफल - वर्ष 2012 से 2014 तक                  लिंक खोले

हाई स्कूल (कक्षा X) का परीक्षाफल - वर्ष 2015 से 2019 तक                  लिंक खोले

हाई स्कूल (कक्षा X) का परीक्षाफल - वर्ष 2020  तक                              लिंक खोले


(इंटरमीडिएट के सभी परीक्षाफल के लिए यहाँ क्लिक करें )


माध्यमिक शिक्षा परिषद संक्षेप  में  -  उत्तर प्रदेश एक परीक्षा लेने वाली संस्था है। इसका मुख्यालय प्रयागराज में है। यह दुनिया की सबसे बड़ी परीक्षा संचालित करने वाली संस्था है। इसे संक्षेप में "यूपी बोर्ड" के नाम से भी जाना जाता है। बोर्ड ने 10+2 शिक्षा प्रणाली अपनायी हुई है। यह 10th एवं 12th कक्षा के विद्यार्थियों के लिये सार्वजनिक परीक्षा आयोजित करता है। माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश की स्थापना सन् 1921 में प्रयागराज में संयुक्त प्रान्त वैधानिक परिषद (यूनाइटेड प्रोविन्स लेजिस्लेटिव काउन्सिल) के एक अधिनियम द्वारा की गई थी। इसने सबसे पहले सन् 1923 में परीक्षा आयोजित की। यह भारत का प्रथम शिक्षा बोर्ड था जिसने सर्वप्रथम 10+2 परीक्षा पद्धति अपनायी थी। इस पद्धति के अंतर्गत्त प्रथम सार्वजनिक बोर्ड परीक्षा का आयोजन 10 वर्षों की शिक्षा उपरांत, जिसे हाई-स्कूल परीक्षा एवं द्वितीय सार्वजनिक परीक्षा 12 वर्ष की शिक्षा के उपरांत दिये जाते हैं, जिसे इंटरमीडियेट परीक्षा कहते हैं। इसके पहले प्रयागराज विश्वविद्यालय "हाई स्कूल" एवं "इण्टरमिडिएट" की परीक्षाएं आयोजित करता था।
उत्तर प्रदेश बोर्ड का मुख्य कार्य राज्य में हाई स्कूल एवं इण्टरमिडिएट की परीक्षा आयोजित करना होता है। इसके अलावा राज्य में स्थित विद्यालयों को मान्यता देना, हाई स्कूल एवं इण्टरमिडिएट स्तर के लिये पाठ्यक्रम एवं पुस्तकें निर्धारित करना भी प्रमुख कार्य है। साथ ही बोर्ड अन्य बोर्डों द्वारा ली गयी परीक्षाओं को तुल्यता प्रदान करता है। आने वाले समय में सदा बढ़ते रहने वाले कार्यभार को देखते हुए, बोर्ड को पूरे क्षेत्र में अपनी गतिविधियों के इलाहाबाद स्थित केन्द्रीय कार्यालय से कई समस्याओं का नियंत्रण और संचालन में कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था। अतः बोर्ड के 5 क्षेत्रीय कार्यालयों की स्थापना मेरठ 1973, वाराणसी 1978, बरेली 1981, प्रयागराज 1987, गोरखपुर 2016, में की गई। इन कार्यालयों में क्षेत्रीय सचिवों की नियुक्ति की गईं, जिनके ऊपर इलाहाबाद स्थित मुख्यालय के सचिव प्रधान कार्यपालक के रूप में कार्यरत रहते हैं। कुछ वर्ष पूर्व रामनगर नैनीताल स्थित कार्यालय को 8 नवंबर 2000 को उत्तरांचल राज्य के गठन के समय यू.पी.बोर्ड से अलग कर दिया गया। वर्तमान आंकड़ों के अनुसार बोर्ड 32 लाख से अधिक छात्रों की परीक्षाएं संचालित करता है। उत्तर प्रदेश में कुछ माध्यमिक विद्यालय (काउंसिल ऑफ इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्ज़ामिनेशंस)(आई.सी.एस.ई बोर्ड) एवं केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सी.बी.एस.ई) द्वारा प्रशासित हैं, अधिकांश माध्यमिक विद्यालय उ.प्र.बोर्ड की मान्यता प्राप्त हैं। वर्तमान में 9121 माध्यमिक विद्यालय इस बोर्ड द्वारा मान्यता प्राप्त है। 


दोस्तो Hindi Sarkari Result से अपने करियर को उज्ज्वल बनाएं। सरकारी नौकरी से संबंधित सभी जानकारी के लिए कृपया हमारी वेबसाइट www.hindisarkariresults.in पर आएं और इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें। प्रिये दोस्तों हम आपके उज्जवल भविष्य की कामना करते है। हमारी वेबसाइट पर आने के लिए ||धन्यवाद ||


No comments:

Post a Comment